X Close
X

अपराधियों में वर्दी का भय हो और आम नागरिकों का वर्दी पर भरोसा कायम हो: मुख्यमंत्री


Moradabad:

हुकूमत एक्सप्रेस
मुरादाबाद। उत्तर प्रदेष के मुख्यमंत्री मा0 श्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज सर्किट हाउस सभागार में आयोजित मण्डलीय कानून व्यवस्था एवं विकास कार्यो की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि अधिकारीगण फील्ड विजिट पर आधारित नयी कार्य पद्धति विकसित कर जनआकाक्षांओं की पूर्ति सुनिष्चित करें तथा जनप्रतिनिधियों एवं आम जनता से सीधा संवाद स्थापित करें तथा कानून व्यवस्था में गुणात्मक सुधार करने हेतु थानों पर आने वाले जनसामान्य की समस्याओं के त्वरित एवं स्थलीय समाधान की व्यवस्था सुनिष्चित करें। उन्होंने कानून व्यवस्था को स्वस्थ समाज की आधारषिला बताते हुए कहा कि पुलिस प्रोफेषनल एवं प्रोएक्टिव एप्रोच अपनाकर अपराध व अपराधियों के विरुद्ध कार्यवाही करके प्रभावी अपराध नियंत्रण सुनिष्चित करें। उन्होंने कहा कि समाज विरोधी तत्वों एवं पेषेवर अपराधियों की गतिविधियों पर प्रभावी अंकुष लगाने हेतु थानावार टाॅप-10 अपराधियों की सूची तैयार कर प्रभावी अपराध नियंत्रण हेतु पुलिस को फ्रन्ट फुट पर रहकर अपराधियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने प्रभावी पुलिसिंग एवं टैªफिक मैनेजमेन्ट हेतु मुरादाबाद में इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सिस्टम बनाये जाने के निर्देष देते हुए आगामी कावंड यात्रा में श्रृद्धालुओं को कोई समस्या न हो इस हेतु समय से सडके दुरुस्त करने तथा पर्याप्त सुरक्षा प्रबन्ध करने के भी निर्देष दिये। उन्होंने पुलिस अधिकारियों का आह्वान किया कि इस प्रकार कार्य प्रणाली में बदलाव लाये जिससे अपराधियों मंे बर्दी का भय हो और आम नागरिकों का बर्दी पर भरोसा कायम हो सके। उन्होंने अपराधियों को चिन्हित कर उनको जल्द से जल्द सजा दिलवाये जाने पर बल देते हुए भू-माफिया एवं अवैध खनन करने वालों के खिलाफ कदम उठाकर उनकी सम्पत्तियों जब्त करने की दिषा में प्रयास करने तथा अपराध को न्यूनतम स्तर पर लाने के लिए जिला स्तर पर मजबूत टीमों का गठन करने के भी निर्देष दिये। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को जनप्रतिनिधियों के साथ सुषील व्यवहार करने की आवष्यकता पर बल देते हुए जनप्रतिनिधियों की षिकायत पर उचित व्यवहार न करने के दोषी चन्दौसी के तहसीलदार न्यायिक को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देष दिये।
मुख्यमंत्री ने मण्डलीय विकास कार्यो की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को विकास योजनाओं के स्थलीय निरीक्षण एवं भौतिक सत्यापन करने के निर्देष देते हुए प्रदेष सरकार द्वारा संचालित विकासात्मक एवं जनकल्याणकारी योजनाओं का प्रभावी एवं जनोन्मुखी क्रियान्वयन सुनिष्चित करते हुए निर्धन्तम पात्रों एवं जरुरतमंदों को अधिकाधिक लाभ पहंुचाने पर बल देते हुए स्पष्ट चेतावनी दी कि जनहित की परियोजनाओं से खिलवाड करने वाले दोषी कार्मिकों को बख्षा नही जायेगा। मुख्यमंत्री ने विभागवार एक-एक परियोजना की प्रगति की जानकारी ली तथा षासकीय प्राथमिकता प्राप्त योजनाओं यथा स्वच्छ भारत मिषन, सार्वजनिक षौचालयों का निर्माण, प्रधानमंत्री आवास योजना, आयुष्मान भारत योजना, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, पेयजल परियोजनाएं, मुख्यमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना तथा समस्त पेंषन एवं छात्रवृत्ति योजनाओं का बेहतर एवं जनोन्मुखी क्रियान्वयन करके पात्रों एवं जरुरतमंदों को लाभान्वित करने के अधिकारियों को निर्देष दिये। उन्होंने स्वच्छता कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान कहा कि मुरादाबाद नगर में स्वच्छता की और अधिक आवष्यकता है जिस हेतु नगर आयुक्त को सालिड वेस्ट मैनेजमेंट की कार्यवाही करने तथा नगरीय सौन्दर्यकरण हेतु दीवारों पर बालपेन्टिंग तथा दिल्ली की लुटियन्स जोन की तर्ज पर मुरादाबाद नगर को हरा-भरा करने हेतु विभिन्न प्रजातियों का वृक्षारोपण कराने पर बल दिया। उन्होंने निराश्रित गौवंष हेतु गौ आश्रय स्थलों के निर्माण की समीक्षा के दौरान स्पष्ट किया कि गौवंष सडक पर या किसान के खेत पर नही दिखना चाहिए। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा में कमजोर वर्गो हेतु एफोर्डेबल हाउजिंग स्कीम के माध्यम से मल्टी स्टोरी बिल्डिंग के माध्यम से मलिन बस्तियों में रहने वालों की जीवन स्तर में अपेक्षित सुधार करने तथा सार्वजनिक सम्पत्तियों पर अवैध कब्जे हटाने पर बल दिया। उन्होंने आयुष्मान भारत योजनान्र्तगत गरीबों को पर्याप्त चिकित्सीय सुविधायें उपलब्ध कराने हेतु गोल्डन कार्डो का ष्षत प्रतिषत वितरण सुनिष्चित कराने के मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देष दिये। मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना की समीक्षा करते हुए सभी डीएसओ को स्पष्ट चेतावनी दी कि राषन वितरण में अनियमित्ताओं की षिकायतें नही आनी चाहिए तथा जनप्रतिनिधियो के माध्यम से लाभार्थियों के घर पर खाद्यान्न वितरण सुनिष्चित किया जाये। उन्होंने लोक निर्माण विभाग को नयी सड़कों के निर्माण के सभी कार्य निर्धारित समयावधि में ई-टेण्डरिंग के माध्यम से निर्धारित मानकों का अनुसरण कर समयबद्धता से पूर्ण कराने के निर्देष दिये तथा विद्युत विभाग को विद्युत बिल से संबंधित जनसमस्याओं जैसे मीटर जम्पिंग आदि में उत्पीडात्मक कार्यवाही न करने तथा भ्रष्ट लाईनमैनों एवं जूनियर इंजीनियरों के विरुद्ध कार्यवाही करके उपभोक्ताओं का षोषण रोकने के भी निर्देष दिये। उन्होंने मुद्रा लोन, प्रधानमंत्री रोजगार, स्टैण्डअप एव ओ0डी0ओ0पी0 आदि योजनाओं में अधिकाधिक रोजगार सृजन करने हेतु टीम भावना से कार्य करने पर बल दिया। मुख्यमंत्री ने ऊर्जा विभाग की समीक्षा करते हुए ट्रान्सफार्मरों के प्रतिस्थापन तथा विद्युत बिल से संबंधित जनसमस्याओं के निराकरण पर जोर दिया तथा कृषि विभाग की समीक्षा करते हुए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना तथा फसल बीमा योजना के प्रभावी क्रियान्वयन तथा खाद्य एवं बीज की उपलब्धता एवं वितरण सुनिष्चित करने के अधिकारियों को निर्देष दिये। उन्होंने एक जनपद एक उत्पाद योजना (ओ0डी0ओ0पी0) के अन्र्तगत हस्ताक्षरित एम0ओ0यू0 का क्रियान्वयन सुनिष्चित करने सहित प्राथमिकता से गन्ना मूल्य भुगतान ससमय सुनिष्चित करने तथा षिक्षा की गुणवत्ता में वृद्धि हेतु छात्र-छात्राओं का स्कूलों में नामाकंन बढ़ाये जाने के भी निर्देष दिये। उन्होंने आई0जी0आर0एस0 की षिकायतों/समस्याओं का गुणवत्ता से निस्तारण करने पर बल देते हुए सचेत किया कि यदि कोई निस्तारण फर्जी पाया गया तो संबंधित के विरुद्ध सख्त कार्यवाही होगी। मुख्यमंत्री ने संचारी रोग नियन्त्रण अभियान, टैªफिक जागरुकता, स्कूलों चलो अभियान तथा महिला सुरक्षा को प्राथमिकता से क्रियान्वित करने के भी अधिकारियों को निर्देष दिये तथा 50 लाख से अधिक लागत के बडे निर्माण कार्यो को निर्धारित समय सीमा में गुणवत्तापरक मानकों के अनुरुप पूर्ण करने के निर्देष दिये और स्पष्ट चेतावनी दी कि यदि निर्धारित समयावधि में कार्य पूर्ण नही होने पर जिम्मेदारी तय होगी और दोषी व लापरवाह कार्मिकों के विरुद्ध बेहिचक कार्यवाही की जाएगी।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बाल अपराध, यौन अपराध एवं महिला अपराध सहित अन्य जघन्य अपराधों में चार्जासीट आदि समय से दाखिल कराकर केस को फास्टैªक कोर्ट में ले जाकर उसकी प्रभावी पैरवी की जाये। उन्होंने सभी पुलिस अधीक्षकों को निर्देष दिये कि किसी भी पुलिस कर्मी के विरुद्ध यदि अवैध वसूली की षिकायत मिलती है तो दोषियों के विरुद्ध तत्काल एफआईआर दर्ज कराते हुए सख्त कार्यवाही सुनिष्चित की जाये। मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों को निर्देषित किया कि वे प्रत्येक दिन फुट पेट्रोलिंग करें तथा बिना लाईसेंस एवं बिना हेलमेट वाहन चालाने वालों के विरुद्ध तुरन्त नियमानुसार कार्यवाही करें।
प्रदेश में अपराध का स्तर न्यूनतम करने की दिशा में मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने जिला स्तर पर मजबूत टीमों का गठन करने का निर्देश देते हुए कहा कि अपराधियों में वर्दी का भय होना चाहिए और जनता के मन में वर्दी का भरोसा कायम करना होगा। उन्होंने षासन की मंषानुरुप अधिकारियों को अपने क्षेत्र का औचक निरीक्षण कर दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कार्यवाही करनी चाहिए तभी जनता का भरोसा जीता जा सकता है।
मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने मुरादाबाद मण्डल के जिलों के पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया कि संवेदनशील इलाकों को चिन्हित कर उनमें पुलिस गश्त बढ़वाएं। इसी प्रकार थाना स्तर पर उपद्रवी तत्वों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कार्यवाही कर उन्हें जल्द से जल्द सजा दिलवाएं। महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों को रोकने के लिए मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को जल्द से जल्द एन्टी-रोमियो स्क्वाड गठित करने का निर्दश देते हुए कहा, कि 1 जुलाई को कॉलेज, स्कूल खुलते ही एन्टी-रोमियो स्क्वाडों को क्रियाषील करने के निर्देष दिये। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार महिलाओं, बालिकाओं के खिलाफ अपराधों से सख्ती से निपटेगी तथा इसमें किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रशासन बारिश के मौसम से पहले गांवों में प्लास्टिक, पॉलिथीन और थर्माकोल पर पूर्णतः रोक लगाए। प्लास्टिक और थर्माकोल की वजह से नालियों का पानी रुकता है जिससे कई तरह की बीमारियां फैलने का खतरा बढ़ जाता है। अधिकारी प्लास्टिक, पॉलिथीन और थर्माकोल पर पूर्णतः रोक लगाने के कारगर कदम उठाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि समय- समय पर अधिकारियों द्वारा विकास के कार्यों की जाँच होते रहनी चाहिए।
मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि पाइप्ड पेयजल योजना के तहत गांवों में जल की गुणवक्ता और उपलब्धता की जाँच वह खुद जाकर करें। साथ ही पानी की पाइपलाइन बिछाने के दौरान सड़कों को तोड़कर पाइप बिछाने के बाद सड़क को फिर से बनाये जाये, अधिकारी इसकी भी जाँच करें। सड़कों को खुदा हुआ छोड़ने पर आम जनता को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
गन्ना भुगतान को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा गन्ना किसानों को फसल का उचित मूल्य समय पर दिया जाना चाहिए। अधिकारी यह भी सुनिश्चित करें कि गन्ना मिलों को ओर से किसानों को पूरा भुगतान समय से किया जाये। योगी जी ने कहा कि यदि गन्ना मिल मालिकों की कोई समस्या हो तो उनसे मीटिंग करके जल्द से जल्द इसका समाधान निकालें।
भू-माफिया और अवैध खनन करने वालों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्यवाही करने का निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, ऐसे लोगों की सम्पत्तियां भी जब्त करने की दिशा में काम होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि सजा के साथ साथ ऐसे लोगों की सम्पत्तियां भी जब्त होनी चाहिए तभी उनके हौसले टूटेंगे।
समीक्षा बैठक में ग्राम्य विकास चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री/जनपद प्रभारी मंत्री डा0 महेन्द्र सिंह, पंचायतीराज एवं लोक निर्माण विभाग राज्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री चेतन चैहान, अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री बल्देव सिंह औलख, राज्यमंत्री गुलाबो देवी, विधायक नगर रितेष गुप्ता, विधायक कांठ राजेष कुमार चुन्नू, एम0एल0सी0 डा0 जयपाल सिंह व्यस्त, महापौर विनोद अग्रवाल सहित मण्डलायुक्त यषवन्त राव, ए0डी0जी0 बरेली जोन अविनाष चन्द्रा, पुलिस महानिरीक्षक रमित षर्मा, जिलाधिकारी मुरादाबाद राकेष कुमार सिंह, एसएसपी मुरादाबाद अमित पाठक, नगर आयुक्त संजय चैहान, सीडीओ मृदुल चैधरी, के अतिरिक्त रामपुर, बिजनौर, सम्भल एवं अमरोहा जनपदों के जिलाधिकारीगण एवं पुलिस अधीक्षक, सीडीओ, सीएमाओ, डीआईओएस, बी0एस0ए0 तथा मण्डलीय अधिकारीगण एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

Hukoomat Reporter